‘Kaali Aandhi’ se Pahle ‘Aandhi’ [‘काली आंधी’ से पहले ‘आंधी]

The ‘Aha! Zindagi’ special annual edition 2006 features a comprehensive interview of gulzar saab.  An interesting anecdote on aandhi in the same article is posted below where he says that ‘Aandhi’ was not based on Kamaleshwar ji’s novel ‘Kaali Aandhi’, infact the novel was planned during the discussions on the script of aandhi.. Here is the devnagari script of the anecdote   ‘काली आंधी’ से पहले ‘आंधी’… मैं बहुत विस्तार से बताना चाहूंगा… ‘काली आंधी’ वाज़ रिटन आफ्टर ‘आंधी’ एन्ड नाट बिफोर ‘आंधी’.. ‘आंधी’ वाज़ नाट बेस्ड आन काली आंधी… काली आंधी वाज़ बेस्ड आन आंधी । कमलेश्वर जी हमारे साथ थे, हम एक फिल्म के लिये चेन्नई गये थे। ढूंढी साहब के पास, मल्ली साहब जौ मौसम के प्रोड्युसर हैं, वे लेकर गये थे, कमलेश्वर थे और मेरे सहायक भूषण बनमाली थे। उस वक्त मैं ‘आंधी’ पर काम कर रहा था। मैने सोचा चेन्नई में वहां ढूंढी साहब से मिलना है, वहां से महाबलिपुरम जायेंगे। इस बीच में स्क्रिप्ट का पहला ड्राफ्ट पूरा कर लूंगा । उस समय ऐसा हुआ कि ढूंढी साहब को कमलेश्वर जी की कहानी पसन्द नहीं आई। कमलेश्वर बहुत बड़े लेखक हैं, साहित्य में उनका बहुत बड़ा मुकाम है। । हम तो उनसे जूनियर हैं । खासतौर पर उस वक्त तो… हमारे लिये बहुत मुश्किल हो गई… कमलेश्वर जी फ़राख़दिल.. वे जानते थे मुझे ‘सारिका’ के दिनों से.. वे मुझे ‘भाई’ कहते थे, मैं...

Read More